Harsh PG College

HARSH VIDYA MANDIR (P.G.) COLLEGE

RAISI, HARIDWAR (UTTARAKHAND)

Affiliated to Sri Dev Suman Uttarakhand University, Badshahithaul, Tehri Garhwal, Uttarakhand
(An Institution Aided by Government of Uttarakhand)

Previous
Next

हर्ष विद्या मंदिर (पी.जी.) कॉलेज रायसी हरिद्वार आपका स्वागत करता है।

हर्ष विद्या मंदिर (पी.जी.) कॉलेज रायसी हरिद्वार उन शिक्षण संस्थानों में से एक है जिसे जनपद हरिद्वार के रायसी क्षेत्र के समाजसेवी लोक हितैषी एवं शिक्षा प्रेमी डॉ. के.पी. सिंह एवं उनकी पत्नी डॉ. प्रभावती के सक्रिय प्रयासों से सत्र 2005 में हेमवती नंद…कास की ओर उन्मुख करने हेतु महाविद्यालय अविरल प्रयासरत्त है । हर्ष विद्या मंदिर (पी.जी.) कॉलेज रायसी हरिद्वार रेलवे स्टेशन रायसी के दक्षिण दिशा में 1 कि.मी. एवं लक्सर रेलवे स्टेशन व बस स्टैंड से लक्सर बालावाली मार्ग पर 8 कि.मी.की दुरी पर स्थित है।

Notification/ Circular
समस्त छात्र छात्राओं को सूचित किया जाता है कि वर्ष 2021-22 के ऑनलाइन स्वीकृत छात्रवृत्ति आवेदन फॉर्म में उल्खित बैंक खाता संख्या को आधार से लिंक किए जाने पर ही जिला समाज कल्याण अधिकारी स्तर पर सत्यापित आवेदनों का भुगतान PFMS के माध्यम से किया जाएगा

सत्र 2021-22 तृतीय एवं पंचम सेमेस्टर के जिन विद्यार्थियों की आंतरिक परीक्षाएं छूट गई है उन्हें अंतिम अवसर प्रदान करते हुए 31 दिसम्बर 2021 एवं 01 जनवरी 2022 प्रात: 10 बजे केवल छूटे प्रश्नपत्रों की आंतरिक परीक्षा में उपस्थित होने का कष्ट करें।

क्रीडा समिति द्वारा महाविद्यालय में *27/12/2021 - 28/12/2021 को 01 बजे से गोला फेंक, वॉलीबॉल, कबड्डी ,लंबी कूद और खो खो खेल मे महाविद्यालय टीम का चयन किया जाएगा। क्रीडा से संबंधित सभी छात्र छात्राएं फील्ड को तैयार करने और प्रतियोगिता में अपना नाम दर्ज करने के लिए अनिवार्य रूप से महाविद्यालय में पहुंचे। शिक्षण कार्य बिना किसी व्यवधान के साथ क्रीडा समिति के सभी सदस्यों एवं कोच के सहयोग से फील्ड तैयार किया जाएगा। क्रीड़ा समिति हर्ष विद्या मंदिर पीजी कॉलेज हरिद्वार

एच0एन0बी तृतीय एवं पंचम सेमेस्टर के अपने-अपने विद्यार्थियों को परीक्षा फार्म भरकर 3 सेट में महाविद्यालय में जमा करने के लिए सूचित करने का कष्ट करें, जिसकी अंतिम तारीख 1 जनवरी 2022 है तथा उसके बाद 1000 रू विलम्ब शुल्क के साथ 5 जनवरी 2022 है।
डा. राजेश चंद्र पालीवाल (प्राचार्य )

डा. राजेश चंद्र पालीवाल (प्राचार्य )

राष्ट्र के आर्थिक विकास में उच्च शिक्षा का महत्वपूर्ण योगदान है। वर्तमान समय में शिक्षा निति में स्कूली शिक्षा से उच्च शिक्षा तक कई बड़े बदलाव किये गए हैं। नयी शिक्षा निति का उद्देश्य स्कुल से लेकर उच्च शिक्षा तक समय के अनुसार पाठ्यक्रम में बंदलाव और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर युवाओं को प्रतिस्पर्धी परिवेश के लिए तैयार करना है।

Gallery

Latest Articles

One Day Workshop on “Basic steps of social research” in a special context to write dissertation for P.G. students specifically.

One Day Workshop on “Basic steps of social research” in a special context to write dissertation for P.G.

One Day Workshop on “Basic steps of social research” in a special context to write a dissertation for P.G. students

दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार ICSSR, नई दिल्ली द्वारा “बदलते परिवेश में ललित कलाओं की भूमिका

दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार ICSSR, नई दिल्ली द्वारा “बदलते परिवेश में ललित कलाओं की भूमिका

दो दिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार ICSSR, नई दिल्ली द्वारा “बदलते परिवेश में ललित कलाओं की भूमिका : आजादी के अमृत महोत्सव

Dr Alka Harit Awarded with Young Scientist Award

Dr Alka Harit Awarded with Young Scientist Award

Dr Alka Harit Awarded with Young Scientist Award.